स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भारत के प्रथम उप प्रधानमन्त्री तथा प्रथम गृहमन्त्री वल्लभभाई पटेल को समर्पित एक स्मारक है, जो भारतीय राज्य गुजरात में स्थित है। गुजरात के तत्कालीन मुख्यमन्त्री नरेन्द्र…

Read more »

एफिल टॉवर की अन्य जानकारी

एफ़िल टॉवर फ्रांस की राजधानी पैरिस में स्थित एक लौह टावर है। इसका निर्माण 1887-1889 में शैम्प-दे-मार्स में सीन नदी के तट पर पैरिस में हुआ था। यह टावर विश्व…

Read more »

बड़ा इमामबाड़ा का निर्माण

बड़ा इमामबाड़ा लखनऊ की एक ऐतिहासिक धरोहर है इसे भूल भुलैया भी कहते हैं इसको अवध के नवाब आसफ उद दौरानी 1784 ने बनवाया था इसे आसिफी इमामबाड़ा के नाम…

Read more »

चारमीनार की संरचना और वाणिज्य क्षेत्र

चारमीनार (“चार मीनार”), 1591 में निर्मित, भारत के हैदराबाद, तेलंगाना में स्थित एक स्मारक और मस्जिद है। यह विश्व स्तर पर हैदराबाद के प्रतीक के रूप में जाना जाता है…

Read more »

क़ुतुब मीनार का इतिहास

कुतुब मीनार भारत में दक्षिण दिल्ली शहर के महरौली भाग में स्थित, ईंट से बनी विश्व की सबसे ऊँची मीनार है। इसकी ऊँचाई 72.5 मीटर (237.86 फीट) और व्यास 14.3…

Read more »

इण्डिया गेट का निर्माण स्थल का इतिहास

इण्डिया गेट, (मूल रूप से अखिल भारतीय युद्ध स्मारक कहा जाता है), नई दिल्ली के राजपथ पर स्थित 43 मीटर ऊँचा विशाल means है। यह स्वतन्त्र भारत का राष्ट्रीय स्मारक…

Read more »

बंगाल की खाड़ी भाग – 4

सीमापार के मुद्दे जो बंगाल की खाड़ी की सागरीय पारिस्थितिकी को प्रभावित करते हैं सीमापार का मुद्दा वह पर्यावरण संबंधी समस्या होता है, जिसमें या तो समस्या का कारण या…

Read more »

बंगाल की खाड़ी भाग – 3

ऐतिहासिक स्थल प्राचीन बौद्ध धरोहर स्थल पावुरल्लाकोंडा, थोटलाकोंडा एवं बाविकोंडा भारत के ओडिशा राज्य के विशाखापट्टनम नगर में खाड़ी तट पर स्थित हैं। श्री वैशाखेश्वर मन्दिर के अवशेष बंगाल की…

Read more »

बंगाल की खाड़ी भाग – 2

सागर विज्ञान बंगाल की खाड़ी एक क्षारीय जल का सागर है। यह हिन्द महासागर का भाग है। प्लेट टेक्टोनिक्स पृथ्वी का स्थलमंडल कुछ भागों में टूटा हुआ है जिन्हें विवर्तनिक…

Read more »

बंगाल की खाड़ी भाग -1

बंगाल की खाड़ी विश्व की सबसे बड़ी खाड़ी है और हिंद महासागर का पूर्वोत्तर भाग है। यह मोटे रूप में त्रिभुजाकार खाड़ी है जो पश्चिमी ओर से अधिकांशतः भारत एवं…

Read more »
Don`t copy text!