अलंकार का वर्गीकरण और प्रकार

अलंकार अलंकृति ; अलंकार : अलम् अर्थात् भूषण। जो भूषित करे वह अलंकार है। अलंकार, कविता-कामिनी के सौन्दर्य को बढ़ाने वाले तत्व होते हैं। जिस प्रकार आभूषण से नारी का…

Read more »

हिंदी व्याकरण वाक्य विचार, काल, पदबंध और छंद विचार

वाक्य विचार वाक्य विचार हिंदी व्याकरण का तीसरा खंड है जिसमें वाक्य की परिभाषा, भेद-उपभेद, संरचना आदि से संबंधित नियमों पर विचार किया जाता है। दो या दो से अधिक…

Read more »

हिन्दी व्याकरण, समास भाग -6

समास दो शब्द आपस में मिलकर एक समस्त पद की रचना करते हैं। जैसे-राज+पुत्र = राजपुत्र, छोटे+बड़े = छोटे-बड़े आदि समास छ: होते हैं: द्वन्द, द्विगु, तत्पुरुष, कर्मधारय, अव्ययीभाव और…

Read more »

हिन्दी व्याकरण कारक, उपसर्ग, प्रत्यय और संधि भाग -5

कारक 8 कारक होते हैं। कर्ता, कर्म, करण, सम्प्रदान, अपादान, संबन्ध, अधिकरण, संबोधन। किसी भी वाक्य के सभी शब्दों को इन्हीं 8 कारकों में वर्गीकृत किया जा सकता है। उदाहरण-…

Read more »

हिन्दी व्याकरण,क्रिया विशेषण, पुरुष, वचन, लिंग भाग -4

क्रिया विशेषण जिन शब्दों से क्रिया की विशेषता का पता चलता है उन्हें क्रियाविशेषण कहते हैं। जैसे – वह धीरे-धीरे चलता है। इस वाक्य में चलता क्रिया है और धीरे-धीरे…

Read more »

हिंदी व्याकरण भाग -3

विशेषण वाक्य में संज्ञा अथवा सर्वनाम की विशेषता बताने वाले शब्दों को विशेषण कहते हैं। जैसे – काला कुत्ता। इस वाक्य में ‘काला’ विशेषण है। जिस शब्द (संज्ञा अथवा सर्वनाम)…

Read more »

हिन्दी व्याकरण भाग -2

संज्ञा किसी जाति, द्रव्य, गुण, भाव, व्यक्ति, स्थान और क्रिया आदि के नाम को ‘संज्ञा’कहते हैं। जैसे पशु (जाति), सुंदरता (गुण), व्यथा (भाव), मोहन (व्यक्ति), दिल्ली (स्थान), मारना (क्रिया)। संज्ञा…

Read more »

हिन्दी व्याकरण भाग-1

हिंदी व्याकरण, हिंदी भाषा को शुद्ध रूप में लिखने और बोलने संबंधी नियमों का बोध करानेवाला शास्त्र है। यह हिंदी भाषा के अध्ययन का महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। इसमें हिंदी के…

Read more »

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में पूंछे जाने वाले पर्यायवाची शब्द

ऐसे शब्द जिनके अर्थ समान हों, पर्यायवाची शब्द कहलाते हैं।पानी के पर्यायवाची शब्द हैं जल, नीर, अंबु, तोय आदि।सूर्य के पर्यायवाची शब्द – दिनकर, दिवाकर, भानु, भास्कर, आक, आदित्य, दिनेश,…

Read more »

मुहावरों का परिचय, परिभाषा एवं निर्माण व उदाहरण

मुहावरा मूलत: अरबी भाषा का शब्द है जिसका अर्थ है बातचीत करना या उत्तर देना। कुछ लोग मुहावरे को ‘रोज़मर्रा’, ‘बोलचाल’, ‘तर्ज़ेकलाम’, या ‘इस्तलाह’ कहते हैं, किन्तु इनमें से कोई…

Read more »
Don`t copy text!