त्वचाविज्ञान

त्वचाविज्ञान औषधि शास्त्र की वह शाखा है जिसके तहत बाल, नाख़ून, त्वचा और इस से संबंधित रोगों का अध्ययन किया जाता है. यह औषधि और शल्य चिकित्सा दोनो के सन्दर्भ मे एक पृथक विधा है. एक त्वचा रोग विशेषज्ञ रोगों को वृहतर उपचार तो करता हीं है साथ ही बाल, नाख़ून और त्वचा से संबंधित सौन्द्र्य संबंधी समस्या का भी निदान करता है।
इतिहास
बाहरी त्वचा मे स्पष्ट रूप से देखे जा सकने वाले विकार इतिहास के प्रारंभिक कल से ही पाए जाते रहे हैं और इनमे से कुछ का उपचार किया जाता थाः और कुछ का नही. 1801 मे पॅरिस के विश्व प्रसिद्ध सैंट-लूयिस हॉस्पिटल मे पहली बार त्वचा विज्ञान के पहले प्रमुख स्कूल की स्थापना की गयी और इसी समयकाल मे इससे संबंधित कुछ प्रमुख पुस्तकों – (वलाल्न – 1798–1808) और मान चित्रों (आल्बर्ट- 1806-1814) का भो प्रकाशन हुआ.
प्रशिक्षण
युनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका
युनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका मे एक आम त्वचा-चिकित्सक को अमेरिकन अकॅडमी ऑफ डरमेटॉलजी, अमेरिकन बोर्ड ऑफ डरमेटॉलजी अथवा द अमेरिकन ओस्तीओपथिक बोर्ड ऑफ डरमेटॉलजी से प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए एम. डी अथवा डी. ओ. स्तर की मेडिकल डिग्री के अलावा करीब चार वर्षों के प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है. इस प्रशिक्षण अवधि मे आरंभिक उपचार और माध्यमिक और शल्य चिकित्सा ज्ञान के लिए एक साल के प्रशिक्षु सत्र के उपरांत त्वचा चिकित्सा मे तीन सालों तक अस्पताल मे स्थानीय उपचारक के रूप मे कार्यकाल शामिल होता है.
इस प्रशिक्षण के बाद इम्य्यूनोडर्र्मीटॉलोजी, फोटोतेरपी, लेज़र मेडिसिन, मोअस मिक्रोग्राफ़िक सर्जरी, कॉसमेटिक सर्जरी ओर दर्माटोपातोलोगी मे एक या दो साल के पोस्ट-रेसिडेन्सी फेलोशिप्स की भी विकल्प होता है. पिछले कुछ वर्षो से अमेरिका मे त्वचा विज्ञान मे निवासी चिकित्सक का स्थान प्राप्त करना काफ़ी कठिन होता जा रहा है.
युनाइटेड किंग्डम
यू. के. मे एक त्वचा विशेषज्ञ एक मान्याताप्राप्त चिकित्सक होता है जिसने औषधिविज्ञान (मेडिकल) मे विशेषज्ञताप्राप्त करने क साथ ही त्वचा विज्ञान मे भी उप-विशेषज्ञता हासिल कर रखी हो. इसमे शामिल होते हैं –
एम. बी. बी. एस., एम. बी. बी. सी.एच अथवा एम. बी. बी. चिर डिग्री प्राप्त करने के लिए किसी मेडिकल स्कूल मे पाँच साल का कोर्स.
मान्यताप्राप्त चिकित्सक बनने से पहले किया जाने वाला एक वर्ष का हाउस जॉब ( फाउंडेशन वर्ष 1)
औषधि विज्ञान मे और उँची डिग्री प्राप्त करने तथा रॉयल कॉलेज ऑफ फिज़ीशियन्स का सदस्य बनने के लिए अनिवार्य दो या तीन सालों तक चिकित्सक के रूप मे कार्य करने का अनुभव (फाउंडेशन वर्ष 2 और 3)
त्वचा विज्ञान मे प्रशिक्षण आरंभ करने के लिए एम. आर. सी. पी. परीक्षा मे सफलता, त्वचा विज्ञान मे स्पेशॅल्टी रिजिस्ट्रार (एस. आर.) के लिए आवेदन और चार सालों तक त्वचा विज्ञान मे प्रशिक्षण
प्रशिक्षण के समाप्ति से पूर्व त्वचा विज्ञान मे स्पेशॅल्टी सर्टिफिकेट एग्ज़ॅमिनेशन मे सफलता
चार सालों के प्रशिक्षण को सफलतापूर्वक संपन्न करने के बाद एक चिकित्सक मान्यताप्राप्त त्वचा चिकित्सक बन जाता है और किसी भी अस्पताल मे सलाहकार त्वचा विशेषज्ञ के रूप मे कार्य कर सकता है.
फ़ेलोशिप
कृत्रिम त्वचा विज्ञान
दुनिया भर मे कृत्रिम शल्य चिकित्सा के मामले मे त्वचा वैज्ञानिक अग्रणी माने जाते हैं कुछ त्वचा विशेषज्ञ तो खास तौर पर त्वचा विज्ञान शल्य चिकित्सा मे विशेषज्ञता हासिल करते हैं. कुछ त्वचा विशेषज्ञ लिपोसक्सन, ब्लेफरोप्लास्टी और फेस लिफ्ट्स जैसे सौंदर्य संबंधी प्रक्रियाएँ भी संपन्न करते हैं।
त्वग्विकृतिविज्ञान (डरमिटोपैथोलॉजी)
त्वग्विकृतिविज्ञान एक ऐसी विधा है जिसमे त्वचा की विकृतियों के निदान मे विशेषज्ञता प्राप्त की जाती है. इस क्षेत्र मे त्वचा विशेषज्ञ और पैथोलॉजिस्ट दोनो ही काम कर सकते हैं.
ईमुन्नोडरमिटोलॉजी
इस क्षेत्र के त्वचा विशेषज्ञ आम तौर पर प्रतिरक्षा दोष के कारण होने वाले रोगों जैसे कि लूपस, बुल्लौस पेम्फ़िगॉइड, पेम्फ़िगुस वल्गॅयरिस और प्रतिरक्षा से संबंधित त्वचा विकारों का उपचार करते हैं.
बाल त्वचाचिकित्सा
इस क्षेत्र मे कार्यरत त्वचा त्वचा पीडिट्रिक रेसिडेन्सी अथवा डरमेटॉलजी रेसिडेन्सी दोनो मे से कोई भी कोर्स पूरा कर काम कर सकते हैं.

Leave a Comment