आँख की संरचना

आँख या नेत्र जीवधारियों का वह अंग है जो प्रकाश के प्रति संवेदनशील है। यह प्रकाश को संसूचित करके उसे तंत्रिका कोशिकाओ द्वारा विद्युत-रासायनिक संवेदों में बदल देता है। उच्चस्तरीय जन्तुओं की आँखें एक जटिल प्रकाशीय तंत्र की तरह होती हैं जो आसपास के वातावरण से प्रकाश एकत्र करता है; मध्यपट के द्वारा आंख में प्रवेश करने वाले प्रकाश की तीव्रता का नियंत्रण करता है; इस प्रकाश को लेंसों की सहायता से सही स्थान पर केंद्रित करता है (जिससे प्रतिबिम्ब बनता है); इस प्रतिबिम्ब को विद्युत संकेतों में बदलता है; इन संकेतों को तंत्रिका कोशिकाओ के माध्यम से मस्तिष्क के पास भेजता है।

संरचना
आंखे के विभिन्न भाग इस प्रकार है-
श्वेतपटल
रक्तक
दृष्टिपटल
नेत्रश्लेष्मला (कंजंक्टिभा)
स्वच्छमण्डल
परितारिका
पुतली
पूर्वकाल कक्ष
पश्च कक्ष
नेत्रोद
नेत्रकाचाभ द्रव
रोमक पिंड

Leave a Comment