गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान का पर्यटन

गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान उत्तरकाशी, उत्तराखंड, भारत में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान है। इस राष्ट्रीय उद्यान का क्षेत्रफल 1553 वर्ग कि॰मी॰ है। यह उद्यान शंकुधारी वनों की सुन्दरता और हिमनदों की दुनिया की भव्यता को हरे-भरे घास के मैदानों के साथ संयुक्त रूप से प्रदान करता है।

पर्यटन
अप्रैल से अक्टूबर के महीने में, राष्ट्रीय उद्यान में पर्यटन अपने चरम पर होता है। निकटतम रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा देहरादून है। निकटतम रेलवे स्टेशन 210 किलोमीटर की दूरी पर है, जबकि निकटतम हवाई अड्डा राष्ट्रीय उद्यान से 220 किलोमीटर की दूरी पर है। इसके अलावा हर्शिल निकटतम शहर (30 किमी) है।
भूगोल
गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान भारत के उत्तराखंड राज्य में उत्तरकाशी जिले में भागीरथी नदी के ऊपरी जलग्रहण क्षेत्र में स्थित है। उद्यान की पूर्वोत्तर सीमा तिब्बत के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगी हुयी है। इसका कुल क्षेत्रफल 1559 वर्ग कि॰मी॰ है और समुद्र सतह से औसतन ऊँचाई 7083 मी. है। बर्फ से ढकी पहाड़ और हिमनद इस उद्यान के विस्तृत भाग में फैले हुये हैं। गंगा नदी का उद्गम स्थान गोमुख भी इसी उद्यान के अंदर ही स्थित है। गंगोत्री हिमनद, जिसपर उद्यान का नाम दिया गया है, हिंदुओं के पवित्र स्थलों में से एक है। उद्यान क्षेत्र गोविंद राष्ट्रीय उद्यान और केदारनाथ वन्यजीव अभयारण्य के बीच पारस्परिक निरंतरता के रूप में है। ऊँची पर्वतश्रंखलाएँ, गहरे दर्रे और ढलवा चट्टानें, चट्टानी नुकीले हिमनद और संकरी घाटियों इस क्षेत्र की विशेषताएँ हैं। ऊँचाई में भारी विभिन्नता के कारण (समुद्र सतह से 1800 मी. से लेकर 7083 मी. तक) यहाँ उपोष्णकटिबंधीय परिवेष से लेकर अल्पाइन चारागाह तक देखने को मिलते हैं।
विशेषता
यह उद्यान पशुओं की 15 प्रजातियों और पक्षियों की 150 प्रजातियों का घर है। पर्यटकों को यहाँ हिम तेंदुए, भूरे भालू, कस्तूरी मृग, ताहर, बाघ तथा हिमालय क्षेत्र में पाये जाने वाले कई पक्षी भी दिख सकते हैं।

Leave a Comment