मसूर के उत्पादन के लिए भौगोलिक कारक

मसूर एक दलहन है। इसका वानस्पतिक नाम (Lens esculenta) है। इसकी प्रकृति गर्म, शुष्क, रक्तवर्द्धक एवं रक्त में गाढ़ापन लाने वाली होती है। दस्त, बहुमूत्र, प्रदर, कब्ज व अनियमित पाचन क्रिया में मसूर की दाल का सेवन लाभकारी होता है। मसूर एक प्रमुख फसल है |

मसूर के उत्पादन के लिए भौगोलिक कारक
उत्पादक कटिबन्ध –
तापमान –
वर्षा –
मिट्टी –

Leave a Comment