अमेज़न नदी का महत्व, आइए जाने

आमेजन या अमेजॉन या आमेजॉन दक्षिण अमेरिका से होकर बहने वाली एक नदी है। आयतन के हिसाब से यह विश्व की सबसे बड़ी और लम्बाई के हिसाब से दूसरी नदी है। यह ब्राजील, पेरु, बोलविया, कोलम्बिया तथा इक्वाडोर से होकर बहती है। यह पेरु के एंडीज़ पर्वतमाला से निकलकर पूर्व की ओर बहती है, और अटलांटिक महासागर में मिलती है। इसकी प्रवाह-घाटी विश्व में वृहत्तम है, तथा इसमें जल की प्रवाह दर इसके बाद की आठ नदियों के योग से भी अधिक है। इसके लम्बे-चौडे पाट के कारण इस नदी पर पुलों का अभाव है।

अमेज़न का महत्व

अमेज़न के वर्षावन दुनिया में सबसे बड़े हैं। इसका कुल क्षेत्रफल सत्तर लाख वर्ग किलोमीटर है, जोकि पूरे दक्षिण अमरीकी प्रायद्वीप का 40 प्रतिशत हिस्सा है। अमेज़न के जंगल धरती के पर्यावरण संतुलन में बेहद अहम भूमिका निभाते हैं, इसलिए उसे ‘धरती का फेफड़ा’ कहा जाता है। अमेज़न जैव विविधता का केंद्र है और यहाँ जीव-जंतुओं और वनस्पतियों के बेशुमार किस्में पाई जाती हैं। अमेज़न के वर्षावन से होकर बहने वाली 6,437 किलोमीटर लंबी अमेज़न नदी दुनिया की सबसे लंबी नदी है। दुनिया के समुद्रों में जितना मीठा पानी जाता है उसमें अमेज़न का योगदान 20 प्रतिशत है। अमेज़न के किनारों पर नौ देशों के लगभग तीन करोड़ लोग बसते हैं। ये देश हैं– ब्राज़ील, बोलिविया, पेरू, इक्वेडोर, कोलंबिया, वेनेज़ुएला, गयाना, फ्रेंच गयाना और सूरीनाम। इनमें दो-तिहाई आबादी ब्राज़ील के लोगों की है।

अपवाह तन्त्र उत्पत्ति लगभग एक सदी तक अमेज़ॅन का सबसे दूरस्थ स्रोत अपूर्मिक नदी जल निकासी को माना जाता रहा हैं। फिर 2014 मे अमरिकी जेम्स कॉंटोस और निकोलस त्रिपिसिच के एक अध्ययन में, अमेज़ॅन के सबसे दूर के स्रोत वास्तव में रिओ मंटारो ड्रेनेज को बताया गया है। मुहाना बेलेम, अटलांटिक महासागर में नदी के मुहाने पर प्रमुख शहर और बंदरगाह है। जहां अमेज़न का मुहाना है, इसकी स्पष्ट स्थित और यह कितना व्यापक है, विवादास्पद है, जिसका कारण उस क्षेत्र की अजीब भूगोलिक संरचना है।

सहायक नदियाँ

अमेज़ॅन की 1100 से अधिक सहायक नदियां हैं, जिनमें से 12 नदियाँ की लंबाई 1,500 किलोमीटर (930 मील) हैं। ब्रैंको कैसीकियायर नहर कैक्टा नदी हुआल्गा पुटुमायो (या इसा नदी) जैवेरी जुरुआ झ़िंगू नदी मेरानॉन मोरोना नानय नेपो नीग्रो पेस्टाज़ा प्युरस टेम्पो टेपाजोस टाइग्रे टोकेन्टाइन ट्रोम्बाईटस उकायाली यपुरा मेडिरा

Leave a Comment