तरंग के गुण

तरंग (Wave) का अर्थ होता है – ‘लहर’। भौतिकी में तरंग का अभिप्राय अधिक व्यापक होता है जहां यह कई प्रकार के कंपन या दोलन को व्यक्त करता है। इसके अन्तर्गत यांत्रिक, विद्युतचुम्बकीय, ऊष्मीय इत्यादि कई प्रकार की तरंग-गति का अध्ययन किया जाता है।
तरंगों के द्वारा ऊर्जा को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाया जाता है

तरंग के गुण
किसी तरंग का गुण उसके इन मानकों द्वारा निर्धारित किया जाता है
तरंगदैर्घ्य (Wavelength)
वेग (speed)
आवृति (frequency)
आयाम (Amplitude)
यह सिद्ध किया जा सकता है कि-
v = nl
जहाँ v तरंग का वेग है, n तरंग की आवृत्ति है और l तरंग की तरंगदैर्घ्य (wavelength) है।

विशिष्टताएँ (charecteristics)
तरंगें निम्नलिखित गुण प्रदर्शित करतीं हैं-
परावर्तन (reflection)
अपवर्तन (refraction)
ध्रुवण (polarization)
व्यतिकरण(interference)
विवर्तन (diffraction)

Leave a Comment